Yamuna Expressway Par Banegi 4 University...

89 views
Skip to first unread message

raj yadav

unread,
Jan 9, 2010, 4:44:08 AM1/9/10
to YEIDA
Yamuna Expressway Par Banegi 4 University...

तकनीकी व प्रबंधन शिक्षा के क्षेत्र में पुणे देश का पहला अग्रणी शहर
माना जाता है। नर्सरी से लेकर उच्च शिक्षा के क्षेत्र में ग्रेटर नोएडा
भी एक मुकाम हासिल करने वाला है। एनसीआर का यह पहला शहर होगा जहां पर
नर्सरी के साथ तकनीकी, मेडिकल व प्रबंधन की शिक्षा देने वाले कई नामचीन
कॉलेज व विश्वविद्यालय होंगे। नॉलेज पार्क के अलावा यहां यमुना एक्सप्रेस-
वे के किनारे भी एजूकेशन हब बनाया जा रहा है। जहां एक दो नहीं बल्कि चार
विश्वविद्यालय के लिए जमीन आवंटित कर दी गई। इसके अलावा मैनेजमेंट व
तकनीकी कॉलेज स्थापित करने के लिए कई संस्थानों ने आवेदन किया है। एक साथ
इतने विश्वविद्यालय व कालेज बन जाने पर शिक्षा के क्षेत्र में भी शहर का
परिदृश्य बदल जाएगा। कोई भी बच्चा अगर यहां नर्सरी में प्रवेश लेता है तो
उच्च शिक्षा ग्रहण करने के लिए उसे दूसरे शहर नहीं जाना पड़ेगा।
शहर में पहले से एजूकेशन हब के रूप में नॉलेज पार्क को विकसित किया जा
रहा है। नॉलेज पार्क एक से लेकर पांच तक करीब चार सौ शिक्षण संस्थानों को
जमीन आवंटित कर चुका है। इनमें करीब सवा सौ स्कूलों से लेकर तकनीकी व
मैनेजमेंट कॉलेजों में इस समय शिक्षण कार्य चल रहा है। देश के हर कोने से
यहां पर करीब 70 हजार छात्र शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। नॉलेज पार्क तीन
में आईआईटी रुड़की का निर्माण चल रहा है। नॉलेज पार्क चार में दक्षिण
भारत की कई नामचीन कालेज को भी जमीन आवंटित की गई है। जिसमें दक्षिण भारत
का प्रसिद्ध माता अमृता, अन्ना मलाई, मलायतन पूणे महाराष्ट्र का पदमश्री
डीवाई पाटिल यूनिवर्सिटी शामिल है।

एजूकेशन हब का दायरा अब यमुना एक्सप्रेस-वे की तरफ बढ़ रहा है। यमुना
औद्योगिक विकास प्राधिकरण भी एक हजार एकड़ जमीन एजूकेशन हब में रूप में
विकसित कर रहा है। जिसमें चार विश्वविद्यालय, दस इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट
व मेडिकल कालेज के लिए जमीन आवंटित कर चुका है। इनमें मारुति एजूकेशनल
ट्रस्ट, गलगोटिया कालेज, सैटेलिला एजूकेशन फाउंडेशन व चंदकला ग्रुप शामिल
हैं। प्राधिकरण के उप मुख्य कार्यपालक अधिकारी आरके सिंह का कहना है कि
मेडिकल कालेज के लिए भी जमीन आवंटित की गई। इसके अलावा कई नामी गिरामी
कालेजों ने जमीन के लिए आवेदन किया है। हालांकि यमुना एक्सप्रेस-वे के
किनारे पहले से गौतमबुद्ध विवि स्थापित है। गलगोटिया कालेज के चेयरमैन
सुनील गलगोटिया का कहना है कि इसमें कोई दो राय नहीं है कि आने समय में
शहर शिक्षा के क्षेत्र में अन्य शहरों को काफी पीछे छोड़ देगा। एक्यूरेट
कालेज की ग्रुप निदेशक पूनम शर्मा का कहना है कि किसी भी शहर के विकास
में शिक्षा विशेष महत्वपूर्ण स्थान रखता है। यहां जिस तरह नर्सरी से लेकर
उच्च व तकनीकी शिक्षा के संस्थान स्थापित हो रहे, पूणे भी शहर पीछे छोड़
सकता है

AM

unread,
Jan 9, 2010, 11:33:29 AM1/9/10
to YEIDA
This is great news. 4 Universities including med. schools. Education
is the key to India's progress.
A University based industrial town would be a great place to live.

---------------------------------------------------

Reply all
Reply to author
Forward
0 new messages