Fwd: [Indlinux-group] New inscript keyboard layout proposal

41 views
Skip to first unread message

Ravishankar Shrivastava

unread,
Nov 29, 2009, 12:56:54 AM11/29/09
to technic...@googlegroups.com
इनस्क्रिप्ट कुंजीपट की कुछ खामियों को दुरूस्त करने के लिहाज से एक प्रपोजल सीडॅक ने तैयार
किया है. इस संबंध में संतोष का ईमेल आप सभी की जानकारी हेतु अग्रेषित है. वैसे तो आम
जनता से सुझाव नहीं मांगे गए हैं (पता नहीं क्यों, क्या जनता इसका प्रयोग नहीं करेगी?)
मगर, फिर भी कहीं न कहीं हल्ला गुल्ला करने से बात बन तो सकती ही है. तो यदि आपके
जेहन में सुझाव आते हैं तो इस समूह में बताएं. आवश्यक सुझावों को कम्पाइल कर उन्हें सीडॅक में
पहुँचाने की कोशिश की जाएगी.

सादर,
रवि
---
संतोष का ईमेल:

Attached the new Inscript Layout proposal from CDAC which was prepared

by co-ordinating with MS, IBM and Red Hat. We got this document from a
review meeting conducted by Kerala IT Mission on Nov 23rd.

The document covers the the new layout proposal for all Indian Languages.

I am not sure to whom we need to send the comments or any date for
that. AFAIK There is no public review request from CDAC so far .


Thanks
Santhosh


Inscript_Proposal_New.pdf
Attached Message Part
Attached Message Part

सुरेश कुमार शुक्ल

unread,
Nov 29, 2009, 3:27:45 AM11/29/09
to technic...@googlegroups.com
नमस्ते,

धन्यवाद, बहुत अच्छी जानकारी दी है। मैं जैसे जैसे इस्तेमाल कर रहा हूँ
कुछ सुधार नजर आ रहे हैं।
बस इंतजार कर रहा था कि यह कुंजीपट आम इस्तेमाल में आ जाए।

नमस्ते,
सुरेश

२९ नवम्बर २००९ ११:२६ AM को, Ravishankar Shrivastava
<ravir...@gmail.com> ने लिखा:

सुरेश कुमार शुक्ल

unread,
Nov 30, 2009, 10:49:49 AM11/30/09
to technic...@googlegroups.com
नमस्ते,

पूरा लेख तो समझ नहीं आया जैसे Ext Layout चलाने के लिए क्या कुंजी दबानी पड़ेगी?

वैसे मुझे principal 4 पर आपत्ति है। यह बहुत असुविधाजनक है। आप भी आजमा
कर देखिए, यह इस्तेमाल में असहज लगता है।
किसी नये उपयोगकर्ता को बताने लगें तो उसका सर घूम जाए। सिर्फ -
?
"
'
`
:
के लिए भाषा (IME method) बदलनी पड़ती है। जबकि यह आम इस्तेमाल की कुंजियाँ हैं।
इनका आँकड़ा भले ही Latin नंबर में रखा जाय लेकिन कुंजीपट पर आसानी हो।

इनमें से कुछ कुंजियाँ हिन्दी व्याकरण के हिसाब से गलत हो सकती हैं। भाषा
विद्वान सदस्य अपने विचार बतायें।

नमस्ते,
सुरेश

२९ नवम्बर २००९ १:५७ PM को, सुरेश कुमार शुक्ल <sureshk...@gmail.com> ने लिखा:

सुरेश कुमार शुक्ल

unread,
Nov 30, 2009, 11:40:27 PM11/30/09
to technic...@googlegroups.com, Anunad Singh
और एक बात
जब यूआरएल हिन्दी में आ जाएंगे तो / (forward slash) को लिखने के लिए भी
हिन्दी कुंजीपट पर स्थान होना चाहिए नहीं तो बार बार IME बदलना पड़ेगा।

-सुरेश

ePandit | ई-पण्डित

unread,
Dec 1, 2009, 5:53:36 PM12/1/09
to technic...@googlegroups.com
इनस्क्रिप्ट कीबोर्ड लेआउट में सुधार हेतु कुछ सरल सुझाव मेरे दिमाग में थे, सृजनशिल्पी जी ने एक बार कहा था कि वे उन्हें सी-डैक वालों तक एक पहचान वाले के माध्यम से पहुँचा सकेंगे, फिर बात आयी गयी हो गयी। हरिराम  जी से एक बार बात हुयी थी तो उन्होंने कहा था कि सी-डैक वाले सुझावों पर कोई विशेष गौर नहीं फरमाते।

खैर सुझाव थे-
  1. सबसे ऊपर की नम्बर वाली पंक्ति में सामान्य अवस्था में हिन्दी के अंक होने चाहिये, वर्तमान में सामान्य अवस्था में अंग्रेजी के अंक हैं, हिन्दी के अंक AltGr (Right ALT key) के साथ छपते हैं जो कि मेरे विचार से सही नहीं है। हिन्दी कीबोर्ड में बाइ डिफॉल्ट हिन्दी के ही अंक होने चाहिये। अंग्रेजी के अंक NumPad पर हों जिनका प्रयोग कैलकुलेशन के कार्यों में किया जा सके।
  2. "य" के साथ SHIFT पोजीशन में "य़" है जिसका कि हिन्दी में प्रयोग कोई विशेष अधिक नहीं। इसकी बजाय SHIFT पोजीशन में "?" होना चाहिये जिसका कि हिन्दी में भी बहुत उपयोग है। वर्तमान में इसके लिये बार-बार HI-EN में कूद फाँद करनी पड़ती है। "य़" को आवश्यकता पड़ने पर नुक्ता लगाकर छापा जा सकता है।
  3. "ऑ" और इसकी मात्रा "| \" वाली कुञ्जी पर होती हैं जो कि किसी कीबोर्ड पर कहीं होती है और किसी पर कहीं और। इसको बिना देखे भी टच विधि से टाइप नहीं किया जाता। कीबोर्ड लेआउट में "ओ" और इसकी मात्रा वाली कुञ्जी के नीचे "Z" वाली कुञ्जी खाली है, यहाँ पर "ऑ" को स्थान दिया जाना चाहिये, इससे "ओ", "औ" और "ऑ" वर्टिकल रुप से एक सीध में भी हो जायेंगे और याद रखना एवं  टाइप करना भी आसान होगा।
    दूसरा उपाय यह है कि "ऑ" को "ओ" के साथ AltGr पोजीशन में रख दिया जाये। यह वर्ण थोड़ा कम ही आता है इसलिये इस पोजीशन में भी टाइप किया जा सकता है। यानि ॉ = AltGr+A, ऑ = AltGr+SHIFT+A हो
  4. फुलस्टॉप वाली कुञ्जी (> .) से वर्तमान में सामान्य अवस्था में "." छपता है जिसका कि हिन्दी में प्रयोग नगण्य है। जबकि दूसरी ओर पूर्णविराम (।) जिसका कि हिन्दी में हर वाक्य के पीछे प्रयोग होता है उसके लिए अनावश्यक रुप से SHIFT दबाना पड़ता है। इससे लोग सुविधा के चक्कर में पूर्णविराम की बजाय फुलस्टॉप का ही प्रयोग करने लगते हैं जिससे कि देवनागरी की सुन्दरता खराब होती है।
    फुलस्टॉप वाली कुञ्जी से सामान्य अवस्था में पूर्णविराम (।) तथा SHIFT अवस्था में ॥ (Double danda) छपना चाहिये। फुलस्टॉप (.) के प्रयोग की जहाँ बहुत आवश्यकता हो, उसके लिये EN लेआउट में स्विच किया जा सकता है।
  5. ऐसा देखा गया है कि सबसे ऊपर जो अंकों वाली पंक्ति होती है उसे टच विधि से बिना देखे टाइप नहीं किया जा सकता, इसलिये उस पर सिर्फ वही वर्ण हों जिनके लिये विकल्प नीचे की कुञ्जियों में उपलब्ध हों। अब "ऍ" (एवं इसकी मात्रा - ॅ), विसर्ग (ः) तथा "ऋ" को छोड़कर बाकी के लिये नीचे विकल्प उपलब्ध हैं। इन तीनों के लिये भी नीचे की कुञ्जियों पर ही विकल्प उपलब्ध करवाये जाने चाहिये। सिर्फ इन तीनों को ही टाइप करने के लिये मुझे कीबोर्ड देखना पड़ता है। ऊपर के चिह्न बेशक बने रहें पर नीचे भी विकल्प हों।
  6. "ऍ" और इसकी मात्रा को ए वाली कुञ्जी के साथ AltGr पोजीशन में लगाना चाहिये। ताकि याद रखना भी आसान हो और टाइप करना भी। यानि ॅ = AltGr+S, ऍ = AltGr+SHIFT+S हो
  7. विसर्ग को दिखने में साम्यता के आधार पर याद करने की सरलता के लिये सेमीकॉलन (;) वाली कुञ्जी के साथ AltGr पोजीशन में लगाया जाना चाहिये।
  8. "ऋ" और इसकी मात्रा को सुनने की साम्यता के आधार पर "र" के साथ AltGr पोजीशन में लगाया जा सकता है। यानि ृ = AltGr+J, ऋ = AltGr+SHIFT=J
  9. इसके अलावा त्र, श्र, क्ष, ज्ञ आदि संयुक्ताक्षरों को टाइपिंग की सरलता हेतु वे जिस वर्ण से शुरु होते हों उसके साथ AltGr आदि किसी पोजीशन में लगाने बारे विचार हो सकता है, जैसे त्र, त से शुरु है तो उसे त के साथ किसी पोजीशन में रखा जा सके। परन्तु यह वाला सुझाव मुझे खुद ही सही सा नहीं जमता, व्यावहारिक नहीं लगता।

इनमें से कुछ सुझाव शायद व्यावहारिक न हों परन्तु कुछ तो आसानी से क्रियान्वित किये जा सकते हैं जैसे सुझाव नं 1, 2 तथा 4 आदि।

हरिराम जी ने एक बार इनस्क्रिप्ट की कमियों सम्बंधी एक लेख लिखा था, उसे भी देखा जाना चाहिये।

२९ नवम्बर २००९ ६:५६ AM को, Ravishankar Shrivastava <ravir...@gmail.com> ने लिखा:



--
Shrish Benjwal Sharma (श्रीश बेंजवाल शर्मा)
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
If u can't beat them, join them.

ePandit: http://epandit.blogspot.com/

pk sharma

unread,
Dec 2, 2009, 2:55:28 AM12/2/09
to technic...@googlegroups.com
good suggestions
 
----- Original Message -----
Sent: Wednesday, December 02, 2009 4:23 AM
Subject: [technical-hindi] Re: Fwd: [Indlinux-group] New inscript keyboard layout proposal

इनस्क्रिप्ट कीबोर्ड लेआउट में सुधार हेतु कुछ सरल सुझाव मेरे दिमाग में थे, सृजनशिल्पी जी ने एक बार कहा था कि वे उन्हें सी-डैक वालों तक एक पहचान वाले के माध्यम से पहुँचा सकेंगे, फिर बात आयी गयी हो गयी। हरिराम  जी से एक बार बात हुयी थी तो उन्होंने कहा था कि सी-डैक वाले सुझावों पर कोई विशेष गौर नहीं फरमाते।

<snipped>

narayan prasad

unread,
Dec 2, 2009, 8:06:01 AM12/2/09
to technic...@googlegroups.com
Instead of planning all this nonsense, why can't CDAC propose first to
design the physical keyboard having at least about 200 keys to suit
the Indian languages ? How long the Indians should be kept dependent
on the unsuitable English keyboard for typing in Indic scripts ?

---Narayan Prasad

२ दिसम्बर २००९ ४:२३ AM को, ePandit | ई-पण्डित <sharma...@gmail.com> ने लिखा:


> इनस्क्रिप्ट कीबोर्ड लेआउट में सुधार हेतु कुछ सरल सुझाव मेरे दिमाग में थे,
> सृजनशिल्पी जी ने एक बार कहा था कि वे उन्हें सी-डैक वालों तक एक पहचान वाले के
> माध्यम से पहुँचा सकेंगे, फिर बात आयी गयी हो गयी। हरिराम  जी से एक बार बात
> हुयी थी तो उन्होंने कहा था कि सी-डैक वाले सुझावों पर कोई विशेष गौर नहीं
> फरमाते।
>
> खैर सुझाव थे-
>

--- Further Message curtailed -----

सुरेश कुमार शुक्ल

unread,
Dec 5, 2009, 8:54:27 AM12/5/09
to technic...@googlegroups.com
मैनें आपके सुझावों को देखा है, अच्छे हैं। मेरी टिप्पणियाँ देखें

> सबसे ऊपर की नम्बर वाली पंक्ति में सामान्य अवस्था में हिन्दी के अंक होने
> चाहिये, वर्तमान में सामान्य अवस्था में अंग्रेजी के अंक हैं, हिन्दी के अंक
> AltGr (Right ALT key) के साथ छपते हैं जो कि मेरे विचार से सही नहीं है।
> हिन्दी कीबोर्ड में बाइ डिफॉल्ट हिन्दी के ही अंक होने चाहिये। अंग्रेजी के अंक

मैं उबुन्टु पर इनस्क्रिप्ट इस्तेमाल कर रहा हूँ। IME Hindi Inscript
चुनने के बाद सामान्य अवस्था में १२३४५६७८९० ही दिखता है। समस्या कहाँ
है।

> "य" के साथ SHIFT पोजीशन में "य़" है जिसका कि हिन्दी में प्रयोग कोई विशेष अधिक
> नहीं।

किसी और कुंजी के लिए बचा कर रखते हैं (नीचे देखते हैं)

> इसकी बजाय SHIFT पोजीशन में "?" होना चाहिये जिसका कि हिन्दी में भी बहुत
> उपयोग है। वर्तमान में इसके लिये बार-बार HI-EN में कूद फाँद करनी पड़ती है।
> "य़" को आवश्यकता पड़ने पर नुक्ता लगाकर छापा जा सकता है।

यहाँ पर मेरा विचार है कि . सामान्य अवस्था में । और शिफ्ट के साथ ? लिखे

> "ऋ" और इसकी मात्रा को सुनने की साम्यता के आधार पर "र" के साथ AltGr पोजीशन
> में लगाया जा सकता है। यानि ृ = AltGr+J, ऋ = AltGr+SHIFT=J

सामान्य र और शिफ्ट के साथ ऋ रखा जा सकता है। एक सुझाव यह भी है कि यहाँ
य रखा जाय।
य और य़ के स्थान पर . और / रखे जा सकते हैं। हिन्दी URL लिखने के काम आएगा।

मैंने आज हिन्दी पत्रिका पर गौर किया, हमारी लेखनी के हिसाब से वाक्य
शुरु और समाप्त करने के लिए मुश्किल है। (' ' )

आप की राय बताइएगा।
-सुरेश

pk sharma

unread,
Dec 7, 2009, 5:11:21 AM12/7/09
to technic...@googlegroups.com
सरलीकरण करने पर :
 
 
 
----- Original Message -----
From: "सुरेश कुमार शुक्ल" <sureshk...@gmail.com>
Sent: Saturday, December 05, 2009 7:24 PM
Subject: [technical-hindi] Re: Fwd: [Indlinux-group] New inscript keyboard layout proposal

> मैनें आपके सुझावों को देखा है, अच्छे हैं। मेरी टिप्पणियाँ देखें
<snipped>
aAaHiKyLayout.JPG

pk sharma

unread,
Dec 7, 2009, 10:08:02 AM12/7/09
to technic...@googlegroups.com
the completer layout
 
 
aAaHiKy.JPG

pk sharma

unread,
Dec 8, 2009, 8:53:57 AM12/8/09
to technic...@googlegroups.com
normally two but sometimes three or four hindi characters have been set
on one button or the keyboard.
 
attached diagram shows how to type the four different hindi characters on
the left half and on the right half of the keyboard
 
 
aAaHiKyLegend.JPG

ePandit | ई-पण्डित

unread,
Dec 9, 2009, 4:31:00 AM12/9/09
to technic...@googlegroups.com
फुलस्टॉप वाली कुञ्जी (> .) से वर्तमान में सामान्य अवस्था में "." छपता है जिसका कि हिन्दी में प्रयोग नगण्य है। जबकि दूसरी ओर पूर्णविराम (।) जिसका कि हिन्दी में हर वाक्य के पीछे प्रयोग होता है उसके लिए अनावश्यक रुप से SHIFT दबाना पड़ता है। इससे लोग सुविधा के चक्कर में पूर्णविराम की बजाय फुलस्टॉप का ही प्रयोग करने लगते हैं जिससे कि देवनागरी की सुन्दरता खराब होती है।
फुलस्टॉप वाली कुञ्जी से सामान्य अवस्था में पूर्णविराम (।) तथा SHIFT अवस्था में ॥ (Double danda) छपना चाहिये। फुलस्टॉप (.) के प्रयोग की जहाँ बहुत आवश्यकता हो, उसके लिये EN लेआउट में स्विच किया जा सकता है।

और हाँ फुलस्टॉप  वाली कुञ्जी के साथ AltGr पोजीशन में लाघव चिह्न (०) होना चाहिये। वर्तमान में (कम से कम विण्डोज़ में) यह संस्कृत वाले लेआउट में ही उपलब्ध है जबकि इसका हिन्दी में भी बहुत प्रयोग है। बार-बार संस्कृत वाले लेआउट में स्विच करने की समस्या के कारण लोग इसकी जगह फुलस्टॉप (.) का ही उपयोग करते हैं।

कई ऐसे चिह्न (ऍक्सटेण्डिड) हैं जो विण्डोज़ के अन्तर्निमित इनस्क्रिप्ट कीबोर्ड में संस्कृत वाले लेआउट (Devanagari - InScript) में रखे गये हैं जबकि वे हिन्दी वाले लेआउट (Hindi Traditional) में भी होने चाहिये। इन चिह्नों के लिये वर्तमान में बार-बार HI-SA में कूद-फाँद करनी पड़ती है, इसलिये बहुत  दिक्कत होती है। इन चिह्नों को भी हिन्दी वाले लेआउट में स्थान दिया जाना चाहिये।



कीबोर्ड स्विचिंग की समस्या के चलते लोग सही चिह्नों की जगह गलत विकल्प का प्रयोग करते हैं। 
 जैसे:-
  • पूर्णविराम (।) के स्थान पर फुलस्टॉप (.)
  • लाघव चिह्न (०) के स्थान पर फुलस्टॉप (.) जैसे "डॉ०" की जगह "डॉ."
  • Double Danda (॥) के स्थान पर दो बार पूर्णविराम (।।)
  • विसर्ग (ः) के स्थान पर कॉलन (:)
  • "ऑ" के स्थान पर "औ" या फिर "आ" जैसे "ब्लॉग" की जगह "ब्लौग" या "ब्लाग"
  • "ऍ" की जगह "ऐ" या "ए" जैसे "कॅच" (Catch - IPA:/kætʃ/) की जगह "कैच" या "केच"



१ दिसम्बर २००९ ११:५३ PM को, ePandit | ई-पण्डित <sharma...@gmail.com> ने लिखा:
Reply all
Reply to author
Forward
0 new messages