चिरकुट

13 views
Skip to first unread message

Rangnath

unread,
Aug 4, 2010, 1:35:01 AM8/4/10
to शब्द चर्चा
बनारस और अन्य इलाकों में यह गाली बहुतायत प्रयोग की जाती है। इसका क्या
इतिहास-भूगोल है ?

दिनेशराय द्विवेदी

unread,
Aug 4, 2010, 2:01:48 AM8/4/10
to shabdc...@googlegroups.com
चिरकुट का अर्थ पुराना, स्थान स्थान से फटा कपड़ा है।

2010/8/4 Rangnath <rangna...@gmail.com>

बनारस और अन्य इलाकों में यह गाली बहुतायत प्रयोग की जाती है। इसका क्या
इतिहास-भूगोल है ?



--
दिनेशराय द्विवेदी, कोटा, राजस्थान, भारत
Dineshrai Dwivedi, Kota, Rajasthan,
क्लिक करें, पढ़ें ...
अनवरत
तीसरा खंबा


V S Rawat

unread,
Aug 4, 2010, 3:48:24 AM8/4/10
to shabdc...@googlegroups.com
On 8/4/2010 11:05 AM India Time, _Rangnath_ wrote:

> बनारस और अन्य इलाकों में यह गाली बहुतायत प्रयोग की जाती है। इसका क्या
> इतिहास-भूगोल है ?

मुझे नहीं पता था कि चिरकुट कोई गाली है।

यह "शैतान" या "हरकती" या "नटखट" के अर्थ में किसी व्यक्ति के लिए प्रयोग किया जाने
वाला शब्द है।

वैसे जबसे ओरकुट आया है तब से उसकी साइट की कोडिंग में अनेकों त्रुटियों के कारण ओरकुट का
नाम हमने मज़ाक में चिरकुट रख दिया है।

कृपया बताएँ कि यदि यह गाली है तो इसका अर्थ क्या है। यदि यह गाली है तो मुझे इसका
प्रयोग नहीं करना चाहिए।

रावत

संजय | sanjay

unread,
Aug 4, 2010, 3:52:50 AM8/4/10
to shabdc...@googlegroups.com
चिरकुट गाली नहीं है.

आपने ऑर्कूट को चिरकुट कहा होगा मगर चिरकुट.कॉम सचमुच में एक साइट थी जो अब बन्द हो गई है शायद.

चिरकुट "लघुता" दर्शाने के लिए भी उपयोग में लिया जाता है, मगर चिरकुटाई के तहत ही.  

४ अगस्त २०१० १:१८ अपराह्न को, V S Rawat <vsr...@gmail.com> ने लिखा:



--
---------------------------------------------------------------
संजय बेंगाणी | sanjay bengani | 09601430808
छवि मीडिया एण्ड कॉम्यूनिकेशन
web : www.chhavi.in
         www.tarakash.com
         www.pinaak.org
blog:  www.tarakash.com/joglikhi
site:   www.sanjaybengani.in

अनूप शुक्ला

unread,
Aug 4, 2010, 3:56:12 AM8/4/10
to shabdc...@googlegroups.com
एक चिरकुट चिंतन कभी किया था हमने देखिये यहां
http://hindini.com/fursatiya/archives/446

अनूप शुक्ल
2010/8/4 संजय | sanjay <sanjay...@gmail.com>:

anil janvijay

unread,
Aug 4, 2010, 4:05:15 AM8/4/10
to shabdc...@googlegroups.com
मेरे एक सहयोगी मित्र रमेश सहाय इस समय मेरे सामने बैठे हैं और बता रहे हैं कि चिरकुट शब्द कुर्कुट से आया है । कुर्कुट का मतलब मुर्गा होता है । अंग्रेज़ी में चिर्प (Chirp) का मतलब चें चें करना होता है । तो अपने कालेज के दिनों में जब वे लखनऊ में हास्टल में रहते थे, तब वे लड़कों को कुर्कुट कहा करते थे । लड़कियों के लिए उन्होंने और उनके दोस्तों ने यह चिरकुट शब्द बनाया था। यानी चेंचें कर ने वाली । अंग्रेज़ी के चिर्प और हिन्दी के कुर्कुट को कुट लेकर । इनका कहना है कि तब पचास साल पहले जब ये शब्द इन लोगों ने बनाया था, इन्होंने यह नहीं सोचा था कि त्यह शब्द इतना लोकप्रिय हो जाएगा कि हिन्दी भाषा का एक शब्द ही बन जाएगा और उसका लोग विभिन्न अर्थों में इस्तेमाल किया करेंगे ।
 
2010/8/4 V S Rawat <vsr...@gmail.com>



--
anil janvijay
कृपया हमारी ये वेबसाइट देखें
www.kavitakosh.org
www.gadyakosh.org



Moscow, Russia
+7 495 422 66 89 ( office)
+7 916 611 48 64 ( mobile)

anil janvijay

unread,
Aug 4, 2010, 4:08:37 AM8/4/10
to shabdc...@googlegroups.com
रमेश सहाय जी ने अभी बताया कि हलकट शब्द भी अंग्रेज़ी के ’हेलकैट’ शब्द से ही आया है। अंग्रेज़ी में हेलकैट का मतलब होता है डायन । इसी से हिन्दी में हलकट शब्द बन गया  और फिर भिन्न अर्थों में उसका उपयोग होने लगा ।

2010/8/4 anil janvijay <anilja...@gmail.com>

Abha Mishra

unread,
Aug 4, 2010, 4:15:41 AM8/4/10
to shabdc...@googlegroups.com
1936 में संपादित रसाल जी के शब्दकोष में चिरकुट का अर्थ दिया है,
चिरकुट(चिर+-कुट= काटना) फटा पुराना कपड़ा, चिथड़ा, गूद़ड़।
अब
क्या रमेश रहाय जी ने 1936 में कालेज की पढ़ाई पूरी कर ली थी
क्या रसाल जी ने सहाय जी से लेकर यह शब्द अपने कोष में रखा।

2010/8/4 anil janvijay <anilja...@gmail.com>:

--
aabha
mumbai-67

anil janvijay

unread,
Aug 4, 2010, 4:18:24 AM8/4/10
to shabdc...@googlegroups.com
धन्यवाद आभा जी! मैंने रमेश जी को आपकी बात बता दी है। वे बगलें झाँक रहे हैं और कह रहे हैं कि हो सकता है
पहले भी इस तरह का कोई शब्द रहा हो ।

2010/8/4 Abha Mishra <apna...@gmail.com>

Bodhi Sattva

unread,
Aug 4, 2010, 4:25:20 AM8/4/10
to shabdc...@googlegroups.com
धन्यवाद भाई
सहाय जी को हलकट के बारे में भी बता दें
हलक के माने अरबी में गला होता है
जो गला काटे वह हलकट होगा....
यानी
हलकट गरकटवा है

 
2010/8/4 anil janvijay <anilja...@gmail.com>



--
Dr. Bodhisatva, mumbai
0-9820212573

Abha Mishra

unread,
Aug 4, 2010, 5:11:51 AM8/4/10
to shabdc...@googlegroups.com
अनूप जी ,आप की पोस्ट -चिरकुट शब्द देखते ही याद आई...,।
2010/8/4 अनूप शुक्ला <anup...@gmail.com>:

--
aabha
mumbai-67

V S Rawat

unread,
Aug 4, 2010, 6:57:27 AM8/4/10
to shabdc...@googlegroups.com
On 8/4/2010 1:55 PM India Time, _Bodhi Sattva_ wrote:

> धन्यवाद भाई
> सहाय जी को हलकट के बारे में भी बता दें
> हलक के माने अरबी में गला होता है
> जो गला काटे वह हलकट होगा....
> यानी
> हलकट गरकटवा है

मुझे नहीं लगता कि हलकट को गला काटने वाले के अर्थ में प्रयोग करते हैं। ये तो मुन्नाभाई
प्रकार की भाषा है, गुण्डे लोग किसी को चमकाने के लिए इस शब्द का प्रयोग करते हैं, अबे
ओ हलकट। अब, जो गला काटने वाला है, उससे लोग डरेंगे, उसके लिए इस तरह से इस शब्द
का प्रयोग कैसे करेंगे वरना उनका ही गला कट जाएगा।

कृपया इसके और अर्थ बताएँ।

रावत


>
> 2010/8/4 anil janvijay <anilja...@gmail.com
> <mailto:anilja...@gmail.com>>


>
> धन्यवाद आभा जी! मैंने रमेश जी को आपकी बात बता दी है। वे बगलें झाँक रहे हैं और कह
> रहे हैं कि हो सकता है
> पहले भी इस तरह का कोई शब्द रहा हो ।
>

> 2010/8/4 Abha Mishra <apna...@gmail.com <mailto:apna...@gmail.com>>


>
> 1936 में संपादित रसाल जी के शब्दकोष में चिरकुट का अर्थ दिया है,
> चिरकुट(चिर+-कुट= काटना) फटा पुराना कपड़ा, चिथड़ा, गूद़ड़।
> अब
> क्या रमेश रहाय जी ने 1936 में कालेज की पढ़ाई पूरी कर ली थी
> क्या रसाल जी ने सहाय जी से लेकर यह शब्द अपने कोष में रखा।
>
> 2010/8/4 anil janvijay <anilja...@gmail.com

> <mailto:anilja...@gmail.com>>:


> > मेरे एक सहयोगी मित्र रमेश सहाय इस समय मेरे सामने बैठे हैं और बता रहे हैं कि
> > चिरकुट शब्द कुर्कुट से आया है । कुर्कुट का मतलब मुर्गा होता है । अंग्रेज़ी
> > में चिर्प (Chirp) का मतलब चें चें करना होता है । तो अपने कालेज के दिनों में
> > जब वे लखनऊ में हास्टल में रहते थे, तब वे लड़कों को कुर्कुट कहा करते थे ।
> > लड़कियों के लिए उन्होंने और उनके दोस्तों ने यह चिरकुट शब्द बनाया था। यानी
> > चेंचें कर ने वाली । अंग्रेज़ी के चिर्प और हिन्दी के कुर्कुट को कुट लेकर ।
> > इनका कहना है कि तब पचास साल पहले जब ये शब्द इन लोगों ने बनाया था, इन्होंने
> > यह नहीं सोचा था कि त्यह शब्द इतना लोकप्रिय हो जाएगा कि हिन्दी भाषा
> का एक
> > शब्द ही बन जाएगा और उसका लोग विभिन्न अर्थों में इस्तेमाल किया करेंगे ।
> >

> > 2010/8/4 V S Rawat <vsr...@gmail.com <mailto:vsr...@gmail.com>>


> >>
> >> On 8/4/2010 11:05 AM India Time, _Rangnath_ wrote:
> >>
> >>> बनारस और अन्य इलाकों में यह गाली बहुतायत प्रयोग की जाती है। इसका क्या
> >>> इतिहास-भूगोल है ?
> >>
> >> मुझे नहीं पता था कि चिरकुट कोई गाली है।
> >>
> >> यह "शैतान" या "हरकती" या "नटखट" के अर्थ में किसी व्यक्ति के लिए प्रयोग
> >> किया जाने वाला शब्द है।
> >>
> >> वैसे जबसे ओरकुट आया है तब से उसकी साइट की कोडिंग में अनेकों त्रुटियों के
> >> कारण ओरकुट का नाम हमने मज़ाक में चिरकुट रख दिया है।
> >>
> >> कृपया बताएँ कि यदि यह गाली है तो इसका अर्थ क्या है। यदि यह गाली है
> तो मुझे
> >> इसका प्रयोग नहीं करना चाहिए।
> >>
> >> रावत
> >
> >
> >
> > --
> > anil janvijay
> > कृपया हमारी ये वेबसाइट देखें

> > www.kavitakosh.org <http://www.kavitakosh.org/>
> > www.gadyakosh.org <http://www.gadyakosh.org/>


> >
> >
> >
> > Moscow, Russia
> > +7 495 422 66 89 ( office)
> > +7 916 611 48 64 ( mobile)
> >
>
>
>
> --
> aabha
> mumbai-67
>
>
>
>
> --
> anil janvijay
> कृपया हमारी ये वेबसाइट देखें

> www.kavitakosh.org <http://www.kavitakosh.org/>
> www.gadyakosh.org <http://www.gadyakosh.org/>

अजित वडनेरकर

unread,
Aug 4, 2010, 7:14:44 AM8/4/10
to shabdc...@googlegroups.com

चिरकुट का इतिवृत्त जानिए यहां-

एनडीटीवी में चिरकुट चर्चा 
--
शुभकामनाओं सहित
अजित
http://shabdavali.blogspot.com/

Baljit Basi

unread,
Aug 5, 2010, 8:05:46 PM8/5/10
to शब्द चर्चा
गुरु ग्रन्थ में कबीर का फुरमान है;
कहै कबीरु सुनहु रे संतहु मेरी मेरी झूठी,
चिरगट फारि चटारा लै गइओ तरी तागरी छूटी
यहाँ चिरगट का अर्थ पिंजरा किया जाता है. क्या यह चिरकुट ही तो नहीं?
Baljit Basi

On 4 अग, 07:14, अजित वडनेरकर <wadnerkar.a...@gmail.com> wrote:
> चिरकुट का इतिवृत्त जानिए यहां-
>
> एनडीटीवी में चिरकुट चर्चा

> <http://shabdavali.blogspot.com/2008/10/blog-post_10.html>
>
> 2010/8/4 V S Rawat <vsra...@gmail.com>


>
>
>
>
>
> > On 8/4/2010 1:55 PM India Time, _Bodhi Sattva_ wrote:
>
> >  धन्यवाद भाई
> >> सहाय जी को हलकट के बारे में भी बता दें
> >> हलक के माने अरबी में गला होता है
> >> जो गला काटे वह हलकट होगा....
> >> यानी
> >> हलकट गरकटवा है
>
> > मुझे नहीं लगता कि हलकट को गला काटने वाले के अर्थ में प्रयोग करते हैं। ये तो
> > मुन्नाभाई प्रकार की भाषा है, गुण्डे लोग किसी को चमकाने के लिए इस शब्द का
> > प्रयोग करते हैं, अबे ओ हलकट। अब, जो गला काटने वाला है, उससे लोग डरेंगे, उसके
> > लिए इस तरह से इस शब्द का प्रयोग कैसे करेंगे वरना उनका ही गला कट जाएगा।
>
> > कृपया इसके और अर्थ बताएँ।
>
> > रावत
>

> >> 2010/8/4 anil janvijay <aniljanvi...@gmail.com
> >> <mailto:aniljanvi...@gmail.com>>


>
> >>    धन्यवाद आभा जी! मैंने रमेश जी को आपकी बात बता दी है। वे बगलें झाँक रहे
> >> हैं और कह
> >>    रहे हैं कि हो सकता है
> >>    पहले भी इस तरह का कोई शब्द रहा हो ।
>

> >>    2010/8/4 Abha Mishra <apnaag...@gmail.com <mailto:apnaag...@gmail.com


>
> >>        1936 में संपादित रसाल जी के शब्दकोष में चिरकुट का अर्थ दिया है,
> >>        चिरकुट(चिर+-कुट= काटना) फटा पुराना कपड़ा, चिथड़ा, गूद़ड़।
> >>        अब
> >>        क्या रमेश रहाय जी ने 1936 में कालेज की पढ़ाई पूरी कर ली थी
> >>        क्या रसाल जी ने सहाय जी से लेकर यह शब्द अपने कोष में रखा।
>

> >>        2010/8/4 anil janvijay <aniljanvi...@gmail.com
> >>        <mailto:aniljanvi...@gmail.com>>:


>
> >>         > मेरे एक सहयोगी मित्र रमेश सहाय इस समय मेरे सामने बैठे हैं और बता
> >> रहे हैं कि
> >>         > चिरकुट शब्द कुर्कुट से आया है । कुर्कुट का मतलब मुर्गा होता है ।
> >> अंग्रेज़ी
> >>         > में चिर्प (Chirp) का मतलब चें चें करना होता है । तो अपने कालेज
> >> के दिनों में
> >>         > जब वे लखनऊ में हास्टल में रहते थे, तब वे लड़कों को कुर्कुट कहा
> >> करते थे ।
> >>         > लड़कियों के लिए उन्होंने और उनके दोस्तों ने यह चिरकुट शब्द बनाया
> >> था। यानी
> >>         > चेंचें कर ने वाली । अंग्रेज़ी के चिर्प और हिन्दी के कुर्कुट को
> >> कुट लेकर ।
> >>         > इनका कहना है कि तब पचास साल पहले जब ये शब्द इन लोगों ने बनाया
> >> था, इन्होंने
> >>         > यह नहीं सोचा था कि त्यह शब्द इतना लोकप्रिय हो जाएगा कि हिन्दी
> >> भाषा
> >>        का एक
> >>         > शब्द ही बन जाएगा और उसका लोग विभिन्न अर्थों में इस्तेमाल किया
> >> करेंगे ।
>

> >>         > 2010/8/4 V S Rawat <vsra...@gmail.com <mailto:vsra...@gmail.com

> अजितhttp://shabdavali.blogspot.com/- उद्धृत पाठ छिपाएँ -
>
> उद्धृत पाठ दिखाए

Reply all
Reply to author
Forward
0 new messages