“ वेटीकन पॉप “ बीयरबार मे काम करते थे मोदी चाय बेचते थे मगर सोनिया ?

15 views
Skip to first unread message

Tulsibhai patel

unread,
Dec 6, 2013, 6:12:20 AM12/6/13
to Hindusthan Ki Aawazs

B P DOBHAL

unread,
Dec 7, 2013, 5:53:40 AM12/7/13
to hindusth...@googlegroups.com
सोनियाजी का सबसे बड़ा अचीवमेंट गाँधी फैमिली की बहू होना है! एक ये ही तो ऐसा खानदान है,भारत में जहाँ प्रधानमंत्री पैदा होते  है! जहाँ तक नरेंद्र मोदीजी  का सवाल है! ये उनकी मेहनत व काबिलियत है कि वे इस काबिल बने! लिंकन व कलामजी का उदाहरण लिया जा सकता हैजय भारत 


2013/12/6 Tulsibhai patel <dada...@gmail.com>

--
--
# ग्रुप सदस्य संख्या 2000
# इस ग्रुप में ईमेल करने के लिए hindusth...@googlegroups.com पर चटका लगायें
# आपके द्वारा भेजे गए ईमेल को हम http://sachchadil.blogspot.com
हिंदुस्तान की आवाज़ ब्लॉग पर प्रकाशित करेंगे.
# यदि आप भविष्य में ऐसी ईमेल प्राप्त न करना चाहें तो बे-हिचक hindusthankiaa...@googlegroups.com पर सूचित करें, आपका नाम ईमेल सूची से हटा दिया जाएगा!
 
---
You received this message because you are subscribed to the Google Groups "हिंदुस्तान कि आवाज़" group.
To unsubscribe from this group and stop receiving emails from it, send an email to hindusthankiaa...@googlegroups.com.
For more options, visit https://groups.google.com/groups/opt_out.

Shankar Dutt Fulara

unread,
Dec 11, 2013, 1:59:15 AM12/11/13
to hindusth...@googlegroups.com
दर्द से दुखी दिल्ली के लोगों ने बिना बीमारी समझे तेज दर्दनिवारक गोली खा ली !!!
अब रिएक्शन हो गया है या ; डोज कम रह गयी है ॥ 

दरअसल बहुत समय से जैसे कोई व्यक्ति बीमार चल रहा हो; दर्द से बहुत परेशान, इलाज ही न मिल रहा हो; बीमारी ही समझ न आयी तो इलाज कैसे करे !
ऐसे में एक अच्छा चिकित्सक आया और उसने बीमारी सबके सामने उजागर कर दी । व्यक्ति ने इलाज के लिए मन भी बना लिया ।  
जब बीमारी सबके सामने उजागर हो गयी तो ! और भी चिकित्सक अब इलाज करने को उतावले हो गए !
लेकिन वो नहीं चाहते थे बीमारी जड़ से ख़त्म हो इसलिए व्यक्ति को तेज दर्द निवारक गोली खिला कर आराम का एहसास कराने लगे । 
अब तेज दर्द निवारकों के दुष्परिणाम उस व्यक्ति भोगने होंगे ! 
तारीफ़ की बात ये है कि ऐसे दर्द निवारकों से ही उस व्यक्ति को वह भयंकर रोग हो गया था ।
समझ गए होंगे मैं किसकी बात कर रहा हूँ ?
जबकि उस अर्ध परिचित चिकित्सक को भी उसी जानकार चिकित्सक ने बीमार व्यक्ति से परिचित कराया था । 
व्यक्ति; भारत देश की जनता को माना जाये !
चिकित्सक; स्वामी रामदेव जी को माना जाये !
बीमारी; विदेशियों द्वारा संचालित पोषित पालित कांग्रेस को माना जाये !
इलाज; भारतियों का स्वाभिमान जगाना और अपने मूल से जोड़ना माना जाये !   
तो सारी स्थिति अपने आप साफ़ हो जायेगी । 


7 दिसम्बर 2013 4:23 pm को, B P DOBHAL <dobh...@gmail.com> ने लिखा:



--
यदि आप धर्म प्रेमी हैं ! संस्कारवान और संस्कृती प्रेमी हैं ! देशभक्त हैं ! स्वाभिमानी हैं !
और देश के हालातों और भविष्य से चिंतित हैं;

तो आपको चुप न बैठ कर इस सबको सुधारने
वालों का साथ देना चाहिए |

देश धर्म संस्कृति की सब बुराईयों के विरुद्ध लड़ रहे
"भारत स्वाभिमान" (प.पू स्वामी रामदेव जी महाराज) का साथ दीजिये |
जरा सोचिये !!!
अपने और अपनों के लिए कौन सा प्राणी नहीं सोचता;
पर पूरे समाज
(प्रकृति-पर्यावरण और प्राणी) के लिए केवल मनुष्य सोच और कुछ कर सकता है | 
http://www.bharatswabhimantrust.org/bharatswa/

कृपया मेरा ब्लॉग देखें |

Ram Prasad Jalan

unread,
Dec 9, 2013, 4:07:28 AM12/9/13
to hindusth...@googlegroups.com
BAHU TO MENAKA BHI HAI....??????


2013/12/7 B P DOBHAL <dobh...@gmail.com>
Reply all
Reply to author
Forward
0 new messages