लोकतंत्र इमारतों में बसता है और उसकी पहचान अब उसका काम या संविधान की रक्षा नहीं बल्कि एलईडी की चमक है

2 views
Skip to first unread message

Amalendu Upadhyaya

unread,
Jan 27, 2019, 3:32:49 AM1/27/19
to hasta...@googlegroups.com
Punya Prasun Bajpai on The Republic Dayलोकतंत्र इमारतों में बसता है और उसकी पहचान अब उसका काम या संविधान की रक्षा नहीं बल्कि एलईडी की चमक है

लोकतंत्र का तकाजा यह है कि सत्ता ही संविधान है तो फिर गणतंत्र दिवस भी सत्ता के लिए। इसीलिए लोकतंत्र की पहरीदारी करने वाले सेवक, स्वयंसेवक, प्रधान...

Reply all
Reply to author
Forward
0 new messages